चुंबन दिवस

भारत स्वच्छ हुआ न हो,
गंगा को मैली रहने दो,
हमसे इसका क्या लेना है,
सड़कों पर चुंबन करने दो.
काला धन आए न आए,
सबको तिजोरी भरने दो,
देश पे हक़ बनता सबका,
सड़कों पर चुंबन करने दो.
बंगाल मे गोले बारूद मिले,
जो मरते हैं मर जाने दो,
दिल्ली बंगाल से दूर अभी,
सड़कों पर चुंबन करने दो.
जिन राज्यों में चुनाव हुआ,
जिसकी सरकार हो बनने दो,
हमको राजनीति से क्या,बस
सड़कों पर चुंबन करने दो.