कुछ काम करो

तुम ऐसे जियो कि ओरों को भी जीने की तमन्ना हो ,
ऐसे बीज बोयो कि कैक्टस में भी फूल लगे ,
ऐसी नज़र उठाओ कि दुश्मन का सिर झुक जाए ,
किसी का दिल दुखा दिया तो ज़मीन फट जाए ,1
दुखों को भूल कर सुख का चमन लगाओ ,
शीतलता मिले पर कंकर न चुभ जाए ,
तेरे क़दमों के निशान , निशान बन जाएँ ,
तू ना हो यदि तेरी सुवास रह जाए ,2
लोग पूछे तेरा वास है कहाँ ,
देश का कोना कोना कहे तेरा पता है जहाँ,
तेरे काम में ही हो दिखे तेरा नाम,
सदियाँ बीत जाएँ पर जिन्दा रहे तेरा नाम, 3
तू बने युवा का मार्ग दर्शक और मिले सम्मान,

Leave a Reply