साथिया नहीं जाना के जी ना लगे

र : साथिया नहीं जाना के जी ना लगे
मौसम है सुहाना के जी ना लगे
साथिया नहीं जाना …

ल : साथिया मैने माना के जी ना लगे
जी को था समझाना के जी ना लगे

र : साथिया नहीं जाना …

ल : मेरे अच्छे बालमा छोड़ो आज बईयाँ
वो झूठा जो सइयाँ कल आए ना

र : जाके फिर आओगी आके फिर जाओगी
आने\-जाने में जवानी ढल जाए ना
हो छोड़ो आना जाना के जी ना लगे
साथिया नहीं जाना …

जी का बुरा हाल है जब से जी लगाया
तुझे जी में बसाया तेरे हो लिए

ल : जी का था ख़्याल तो काहे जी लगाया
मुझे जी में बसाया ऐ जी बोलिए

र : हो अब काहे पछताना के जी ना लगे

ल : साथिया मैने माना …

जाने की तो बालमा मर्ज़ी नहीं मेरी
डर लगता है बैरी जगवालों से

र : ओय छड्डो वी ना सोणियों जग से डरते हो
जग ख़ुद डरता है दिलवालों से

ल : ओ हो छोड़ो ये बहाना

र : के जी ना लगे

दो : साथिया नहीं जाना …

Leave a Reply