हिन्दी

मुझे तुम भूल गए
समझदार अब सब तुम हो गए

कोई ऐसा भी जमाना था
मेरे लिए मर मिटे थे तुम

कोई ऐसा भी वक़्त था
तुम्हारी पहचान मैं बनी थी

कोई ऐसा भी समय था
तुम्हारा सहारा मैं बनी थी

कभी ऐसा भी था
मुझे माँ की तरह तुम प्रेम करते थे

पर आज
मुझे तुम सब भूल ही गए
समझदार अब तुम हो गए

मेरे अक्श्रो को भी यौम नही जानते
आज मैं रेखा से line बन गयी
श्यामपट से black – bord बन गयी
नाम से name बन गयी
आज मैं हिन्दी से तुम्हरी english बन गयी

Leave a Reply