जनता है

पूछो के क्या नहीं , वो सब जानता है
वो किरदार तो नहीं है , पर कलाकारी जानता है

वो वफ़ा से महरूम है , पर गद्दारी जानता है
मीरा पे क्या बीती थी , सिर्फ गिरधारी जानता है

हम बोलते है रोज दिल्ली से तुम भी कश्मीर से बोला करो
नमक का स्वाद क्या है , वो सिर्फ वफादारी जानता है

Leave a Reply