खता

# खता #

समझ के उसको खुदा, मैं उसकी नजर सजदा कर गया
मुह्हबत की एक नजर उठा उसका गुनहगार बन गया
मुझे तो ये मालूम ही न था, वो देवता है गुनाहगारो का
अनजान ‘शरीफ’ आदमी खता करके खतावार बन गया

Leave a Reply