मोहब्बत मेरी जान लेने लगा है……..

दिल के दरवाजे पर दस्तक देने लगा है
बेदर्द मोहब्बत मेरी जान लेने लगा है
सब कुछ खो कर तुज्हे पाया था दुनीया से मैने
तो अब क्यु तु हि मेरी जान लेने लगा है
इस भीड मे हर शक्ल तेरा दिखने लगा है
दिन के उजालो से अब डर सा लगने लगा है
कल रात ख्वाब मे देखा तुज्हे था मैने
ना जाने तब से….
क्यु आखो से कुछ पानी सा बहने लगा है
तु खुश है गैर कि बाहो मे जा कर मेरी हमदम
तो फिर क्यु ये दिल तेरी याद मे रोने लगा है

बेदर्द मोहब्बत मेरी जान लेने लगा है……..

2 Comments

  1. pari 06/12/2014
    • Ajay Kumar 08/12/2014