‘संत चला अमेरिका’

आमंत्रण पर है चला हरि हरदम है पास।
सद्भाव सद्गुण का सदन हरि की महिमा साथ॥

संत चला चला अमीरीका करने वह सब बात।
शांति संशुद्ध संदेस सुगम बढ़े विश्व दोनो हाथ॥

सदा स्वप्नसा सत्पथ सबका सत्य सभी स्वीकार।
शरद शरतिया शमन शंक से ‘मंगल’नरेन्द्र साथ॥

One Response

  1. Sukhmangal Singh sukhmangal 07/06/2015

Leave a Reply