इंतजार

एक अरसे से इस राह पर नजरे बिछाए बेठा हु ,
पर अब तक नाहीं कोई यहाँ पे फुल खिला हे , और
नहीं मेरे मोहोबत की कली

Leave a Reply