मौन बड़ा अनमोल

मौन बड़ा अनमोल है प्यारे, नही इसका कोई मोल
मौन के आगे सब हारे,बके चाहे कितने कड़वे बोल

मौन जब तक मौन है तू दुनिया में निडर होकर डोल
चुप्पी तोड़े जिस दिन मौन,खुल जाएगी सबकी पोल

सत्य सदैव मौन रहे वो कभी बड़े न बोले बोल
चुप रहे कुछ न बोले झूठ की पल में खोले पोल

न अति का बोलना, पर न रख अति का मौन
जहाँ जरुरत आन पड़े फिर कभी न रहना मौन

सौ बार के झूठ पर जब सच की चुप्पी तोड़े मौन
बड़े बड़ो की छुट्टी कर दे फोड़े सबके कच्चे ढोल

……>>> डी. के. निवातियाँ <<<.............

Leave a Reply