‘मनरे लगनकर’


धरम पर चलकर,

करो सत् करम।

प्रभु से लगाओ,

तू अपनी लगन।

लख चौरासी में,

तू खो रहा है।

धरम पर चलो,

करो सत् करम।

तुम्हारे करम,

तारे तुम्हें हैं।

लगाओ सुलगन,

तूकर सत्यकरम।

सत्त् सद्गुण सुनो,

सद्व्रत तारते हैं।

मूल मंत्र’राम’में,

लगाओ ऽ लगन।

तू लगाओ लगन,

करो सत् करम।

माता-पिता गुरु व,

वेद तारते हैं।

भागवत पुराण औ,

तारे उपनिषद हैं।

सीता भजन कर ,

मन अब लगन कर।

प्रभु से लगाओ,

तू अपनी लगन।

धरम पर चलकर,

करो सत् करम।

Leave a Reply