आशीर्वाद दीजो

छोटों के नमस्कार लीजो,
नानी!
हमको जी भर आशीर्वाद दीजो ।

आएँगे जब हम ननिहाल में,
पूछेंगे-‘तुम हो किस हाल में?’
अपने सब हाल-चाल दीजो ।
नानी!
हमको जी भर आशीर्वाद दीजो ।

घुटनों का दर्द हुआ कम कितना,
बतलाना, जब हो अपना मिलना,
बातों में नहीं टाल दीजो,
नानी!
हमको जी भर आशीर्वाद दीजो ।

भूल नहीं पाए हैं हम अभी,
नानाजी की वो हा-हा, ही-ही,
एक बार फिर निहाल कीजो,
नानी!
हमको जी भर आशीर्वाद दीजो ।

Leave a Reply