एक ऐसा देश हमारा है, जो सारे जहाँ से प्यारा है

एक ऐसा देश हमारा है, जो सारे जहाँ से प्यारा है,
जहाँ धरती को माता कहते हैं, ऐसा देश ये न्यारा है,
मज़हब चाहे अनेक हो यहाँ, पर फिर भी एक ही नारा है,
हर रोज़ जहा उत्सव होते है, नित दिन नई हरियाली है,
जहाँ आज भी बैठ कर सारा परिवार, मनाता साथ में दिवाली है,
जहाँ बड़े-बड़े ज्ञानी और विद्धानों ने, लिखे वेदान्त हैं,
यह ऐसी अदभुद भूमि है, जहाँ हर दिल में भगवान है,
चाहे कितनी भी भाषाएें हो, पर सब में कुछ विशेष है,
जैसे किसी भी काम को करने से पहले, कहते श्री गणेश हैं,
आज आज़ादी से जो जी रहे हैं, उन वीरो का बलिदान है,
जिन्होंने हँसते-हँसते दी, इस देश के लिए अपनी जान है,
जहाँ आज भी गुरु से बढ़कर, नहीं किसी का स्थान है,
वहाँ आज भी बड़ो की सेवा करना, दिया जाता ये ज्ञान है,
इस पवित्र भूमि के लिए, कुछ ऐसा कर दिखलाएँगे,
आओ सब मिलकर वादा करे दोस्तों, इस देश को आगे बढ़ाएंगे,
क्योंकि हम उन वीरो के वंशज है, जो इस देश के सितारे हैं,
और सारे जहाँ से अच्छा है जो हिंदुस्तान, हम भी उसी के प्यारे हैं.

Leave a Reply