हास्य कविता टाई और कवि विनय भारत

एक पार्टी में मेरा मित्र मुझसे बोला यूं
कवि जी बताइये आप टाई क्यूँ पहनते
मैंने कहा टाई पहनता हूँ इसलिये सुन
क्यूंकि गले में जूते फिट नहीं टँगते
बोला वो कवि जी बहुत खूब बोलते हैं
आपको हमेशा मजाक का ही काम हैं

मैंने कहा टाई पहनता हूँ इसलिए सुन
रुमाल घर रह गया और मुझको जुकाम हैं।

कवि विनय भारत

copy right reserved

Leave a Reply