जख्मी दिल

सुकून दिल का,आँखो की नीद लेकर चले गये!
जिनसे उम्मीद थी वफा की, वो भी बेवफा बन
मेरी उम्मीद तोडकर चले गये!
प्यार की बाजी हम हार गये
और वो जीतकर चले गये!
फिर भी इक पल की जुदाई उनकी
हमेँ सदी लगती है,
दिल पर मेरे जो जख्म देकर चले गये!