गज़ल-अक्लले’श जी मूर्ख मंत्री बन गए अब क्या करें ?

अक्लले’श जी मूर्ख मंत्री बन गए अब क्या करें ?
जंगली शाशन चलाते हाय हम सब क्या करें?

पांच सीटों पर थी’ सिमटी ये सपा की पार्टी |
दंड विधना ने दिया समझे नहीं रब क्या करे ?

शिक्षको पर लाठियां चलवा रहे अखिलेश जी |
शत्रु शिक्षा के कहाए मित्र हम तब क्या करें ?

साइकिल जर्जर हुई है अब मुलायम वृद्ध हैं |
अब न चल सकती साइकिल है टुटा हब क्या करें ?

अग्नि औ बडवाग्नि अब टेट मोर्चा फैलाएगा |
अब वही होगा जो मंजूरे खुदा सब क्या करें ?

आग जलती है ह्रदय में पास टेट है अधजले |
बन चुकी है बात ज्वाला हाय अब लब क्या करें ?

आचार्य शिवप्रकाश अवस्थी
9412224548

2 Comments

  1. mahendra gupta 11/06/2014

Leave a Reply