मोहब्बत की जँग

आजकल लोग हमेँ मजनूँ कहते हैँ
क्योँकि हम दिन रात रोतेँ हैँ किसी की याद मे,
जिसकी वजह से आज मेरा नाम सबकी जुबाँ पर है!
हाँ ये बात बिल्कुल सच है
हम नाकामयाब हुये मोहब्बत की जँग मेँ,
फिर भी जब जब चोट उन्हेँ लगी है दर्द मुझे हुआ है!
रमाकाँत यादव 08756146096