वादा

आज फिर शाम ढल आई
फिर से तेरी याद आई

तू तो ना आई बेफवा
लेकिन याद तेरी क्यों आई

घूमता रहा ये सवाल
मेंरे दिमाग में रात भर सनम

तुझे कल है जरूर आना
मिलने को तुझे मेरी कसम

Leave a Reply