ढेर सा…………..

ढेर सा…………..

 

जगह जगह लगे हैं कूड़े के ढेर

भिनभिनाती मक्खियों के ढेर

फैल जाती बीमारियों के ढेर

ड़ाक्टर पाते सिक्कों के ढेर

शहरों में ढेर सारी सुविधाएँ

गांवों में ढेर सारी दुविधाएँ

श्रमिकों की ढेर सारी उपेक्षाएं

युवकों की ढेर सारी अपेक्षाएँ

होती हैं ढेर सारी डिग्रियां

पाते हैं ढेर सारी बधाईयाँ

नहीं मिलती ढेर सारी नौकरियां

बेकार होती ढेर सारी उपलब्धियाँ

मुठभेड़ में कितने ढेर हो जाते

आतंकी कितनों को ढेर कर देते

जनता कहे ढेरों शहीद हो जाते

नेता कहे ढेरों बलिदान हो जाते

नेताओं की ढेर सारी सभाएं

लम्बी ढेर सारी बातें बनाएं

व्यवस्थाएं ढेर सारी सुझाएं

नाकामयाबियां ढेर सारी पाएँ

सत्याग्रही को मिलते आश्वासन ढेर

धीरज रखो संघर्ष करो ढेर

रखो वातावरण शांत ढेर

नया सूरज लाएगा परिवर्तन ढेर |

……………………………………………………………………………

 

 

 

 

 

Leave a Reply