किस्मत और कर्म

किस्मत ही कर्म कराती है

यह अटल सत्य है जीवन का

किन्तु  छोड कर्म किस्मत पर रोना

यह भी कार्य नही है जीवन का

Leave a Reply