जीवन

जिन्दगी एक सफर है

कितनी सुहानी डगर है

कही गाव है कही नगर है

कभी अगर है कभी मगर है

अगर अगर मे कटता सफर है

जीता वही है जो जिन्दा जिगर है.

 

Leave a Reply