चाहने से कुछ होता है क्या?

उसके शहर में कुछ हुआ है क्या ?
बच्चा रोता है बहुत, भूखा है क्या?

उनके रैली में लाखों कि भीड़ थी ,
भीड़ को दिमाग होता है क्या ?

जितनी हरियाली थी,वे सब चर गए ,
और कोई चारागाह बचा है क्या ?

रूपया-पैसा,दारू-मुर्गा,साड़ी और लैपटॉप,
वोट खरीदने के लिए कम है क्या,?

वो झूठ को सच बना के परोसते है ,
आप सब में ये हुनर होता है क्या?

मैं नया सूरज,नया चाँद चाहता हूँ,
मेरे चाहने से कुछ होता है क्या?

Leave a Reply