कविता- “सिर्फ तू” – कवि~ विनय भारत

तेरी यादें हैं

तेरी बातें हैं

पर

तू नहीं

तो लगता है

सब कुछ हो कर भी कुछ नही

दिल से…