हमारी दोस्ती भली

 

एक हाथी ने
चूहे से कहा –
ओ नटखट चूहे
अब तू हरामी बेईमान
होता जा रहा है
हमारी दोस्ती में
दुश्मनी भरता जा रहा है !
कल जो चोरी की
उसका हिस्सा कहाँ है !
इस पर चूहा गुस्सायां
लात मारते हुए बोला –
बड़े भाई माफ़ करना
मेरी अक्ल खो गई है
उसे ढूँढ रहा हूँ
अगर मिल जाएगी
तो तुम्हारा हिस्सा भी
मिल जाएगा
नहीं तुम भले
हम भले
और सारे जग में
हमारी दोस्ती भली !

Leave a Reply