आँसू नामा

किसी अजनबी शहर में ढूंढ रहे हैं उन वादियों के निशान,

चिराग़ तो मिल गया मगर सुराग़ नहीं मिला अभी तक……!!!!

 

जैन अंशु डी॰ आँसू

Leave a Reply