हाइकु

१- देश आजाद

हो रही सियासत

क्युँ बरबाद

२- मैल  मन का

भला नहीं करेगा

मेरे वतन का

३- देश-भक्त हुँ

लड्ने को तैयार हुँ

सिपाही भी हुँ

 

Leave a Reply