“नहीं मौत से डरते”

देशभक्ति का जज्बा जिसमें, नहीं मौत से डरते।
बड़े भाग्यशाली ही अपनी, मातृभूमि प्रति मरते।।
नहीं गोलियों से भय करते, देशभक्त दीवाने।
सदा राष्ट्र प्रति वे रहते, हैं हरदम सीना ताने।।
-रचनाकार :: मनमोहन बाराकोटी ‘तमाचा लखनवी’

Leave a Reply