मोहब्बत अब जुदा न हो मुझ से !

मोहब्बत अब जुदा न हो मुझ से !
अब दुआ करता हूँ मैं अपने रब से !!
कोई तो वजह बता, कोई तो खता बता !
पूछ ले अपने दिल से, जो भी बता सच – सच बता !!

तुम्हारी जिंदगी की कीमत क्या होगी !
कहीं धूप तो कहीं छाओं होगी !!
जब अयोगी मेरे दिल कि गलियों में !
तब पैरों के नीचे हथेलिया मेरी होगी !!

तुम्हारे बिना मैं नहीं जी पाउँगा !
इस दुनिया में अकेले नहीं रह पाउँगा !!
जहाँ भी जायोगी धोखा ही पाओगी !
लौट कर आयोगी फिर सीने से लग जायोगी !!

मुझे तेरी वेवफाई ने हमको बड़ा रुलाया है !
रो – रो कर अपने दिल के दागों को मिटाया है !!
भूल कर भी लोगों तुम दिल न किसी से लगाना !
अगर दिल भी लगाना बाद में वेवफाई का गीत न गाना !!

Leave a Reply