मान जा पाकिस्तान

मान जा पाकिस्तान मान जा

वरना अंजाम तेरा बुरा होगा

मिट्टी में मिला देंगे तुझे  

वचन ये मेरा पूरा होगा I

 

कर दे आंतकवाद बंद अभी भी

वरना हिन्दुस्तान माफ नही करेगा

तुझे कभी भी

साथ दे तेरा जो पडोसी आज

जूते पडेंगे जब तेरे को

बदल देगा वो अपना अंदाज I

 

चाहे बना ले परमाणु बम्ब

खरीद ले नए-नए हथियार

अब टक्कर होगी जब भी हमसे

कर देंगे तुझे दुनिया से पार I

 

ना तेरी सरजमी तेरी होगी

ना तेरा कोई वजूद होगा

पिलायेंगे तुझे तबाही का ऐसा नीर

ना मिलेगी तुझे काश्मीर

तुझे ऐसी सजा देंगे

दुनिया के नक्शे से मिटा देंगे I

 

दिल्ली से लाहौर

लाहौर से कराची

सारा एक होगा

फिर नाम पाकिस्तान नही

हिन्दुस्तान होगा I

 

शक है तो उठा ले इतिहास

देख पीछे क्या हुआ तेरा ह्रास

मत दोहरा अपना वो मुकाम

अब के ना तुझे कब्र मिलेगी

ना नसीब होगा शमशान I  

2 Comments

  1. mahendra gupta 04/12/2013

Leave a Reply