गम

मुहब्बते गम को,
न भुला सकेगे आप।
आज हम हैं,
आप के साथ॥
कल नहीं होगे हम,
न रहेगी मुहब्बत,
न होगे गम?
न रहेंगे,
हम तुम,
संग-संग॥

Leave a Reply