गजल-झूठ हम कह नहीं सकते |

झूठ हम कह नहीं सकते |
सच वो सह नहीं सकते ||

प्यार उनको है शोहरत से |
बिन दौलत रह नहीं सकते ||

अंगारे जैसे लव उनके |
जलजले सह नहीं सकते ||

सितारे आँख में उनके |
नजारे कह सकते ||

इशारे क्या नजाकत में |
अदाये सह नहीं सकते ||

जुल्फ से जुल्म करते है |
पर कातिल कह नहीं सकते ||

आचार्य शिवप्रकाश अवस्थी
9582510029

2 Comments

  1. Gurcharan Mehta 'RAJAT' Gurcharan Mehta 24/10/2013
  2. ganesh dutt ganesh dutt 18/01/2014

Leave a Reply