आज का वकील

आज का वकील

 

मोतीलाल नेहरू जैसे होते थे कभी हमारे देश में वकील ,

वकालत के पेशे को दी थी उन्होने एक respectful feel,

वकालत पेशे में उन्होने धन और शोहरत दोनो  कमाया ,

अपनी वकालत को ज्ञान और बुद्धि बल पर ही चलाया ।

 

वकीलों में वकील हुए हैं कानूनविद्ध पालखीवाला,

कहा जाता था उन्हे constitution का रखवाला ,

Bar council में था उनका बड़ा ही respect,

उनके arguments से judiciary पर होता था impact॰

 

वकीलों का काम है ,करना अपने client के केस की पैरवी ,

पर किसी भी हाल मे बिगड़ने नहीं देते है वकील अपनी छवि ,

ज्ञानी वकील करता है अपने client से पूरा विचार विमर्श ,

तदुपरान्त ही देता है अपने client को कानूनी परामर्श ।

 

परंतु आजकल चल पड़ा है एक नया दौर ,

जिस पर करना होगा ध्यान पूर्वक गौर ,

वकीलों की जमात में शामिल हो गए है कुछ नकारे ,

कानून का ज्ञान होता नहीं ,कचहरी में फिरते मारे मारे ,

 

Gang-rape के जघन्य आरोपियों को करा defend,

मुकदमा हारने पर खीज मिटाने के लिए महिलाओं को करा offend,

Cheap publicity पाने का निकाला एक नया तरीका,

Bar council कब सिखायेगी इन असमाजिक वकीलों को सलीका ।

 

टीवी के सामने  करते है उल्टे सीधे politically motivated बयान ,

सारा देश स्तब्ध हो गया, करते देख इनको अदालत का अपमान  ,

इन की बौखलाहट ने judiciary को भी नहीं बख्शा,

कैसे करेंगे यह सरफिरे वकील constitution की रक्षा ।

 

जब्त होने चाहिए इन बड़बोलों के license,

नहीं तो करते ही रहेंगे इस प्रकर के offence,

Hardened criminal को भी हक है रखे अपना वकील,

पर केस हारने पर न ठोके अपने ही पेशे में कील ।

 

कानून तुम्हारा पेशा है , कानूनी लड़ाई लड़ना तुम्हारा हक ,

पर हारा हुआ केस हारने पर भी क्यों तुम्हारा चेहरा हो गया फक ,

तुम तो वकील के नाम पर हो एक कलंक ,

तुम्हारी वकालत पर लग जाना चाहिए प्रतिबंध ।

 

उधर देखो झांसा राम के वकील मिस्टर तूफानी ,

जिनकी बाते सुनकर होती है आम आदमी को ग्लानि ,

जब समझ न आए कुछ तो media को देते है चेतावनी ,

अरे अक्ल के दुश्मनों ,डूब मरो अगर मिले चुल्लू भर पानी ।

 

ऐसे वकीलों,उस old lady वकील से learn करो lesson,

जिसने supreme कोर्ट मे दायर की थी writ petition,

Criminals’ पर लगी रोक, लड़ नहीं सकते अब election,

इसे कहते हैं कानून की धाराओं का सही interpretation॰

 

कौन समेटेगा ऐसे जाहिल वकीलों का बस्ता ,

Bar council को ही रोकनी होगी ऐसी चरित्रहीनता,

वरना तो पूरा पेशा हो जाएगा बदनाम ,

अच्छे वकीलों को भी भुगतने होंगे दुष्परिणाम ।।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Leave a Reply