कभी सोचा न था

हालात इतने बदल जाएगे 

कभी सोच न था 

हुम आपसे शर्माएन्गे कभी सोचा न था

जब प्यार को पाने की जुस्तजू होगी 

आप हमे खोज लायेन्गे 

कभी सोचा न था

खूदा से भी कोइ शिकायत नही होगी 

कभी सोच न था

रुबरु से जज्बात इस तरह बिखर जायेन्गे

कभी सोचा न था…..

कभी सोचा न था

कभी सोचा न था

One Response

  1. निशान्त पन्त "निशु" निशान्त पन्त "निशु" 17/02/2015

Leave a Reply