रखना सम्भाल के..

मेरी आंखें तेरा चहरा है,
इसी खातिर इन्हे रखना सम्भाल के !!

तेरे ही लिये जीना मरना है,
मेरी जान है तू मुझे रखना सम्भाल के !!

मेरे ख्वाबों में तेरे सपने हैं,
मेरे ख्वाबो को इसीलिये रखना सम्भाल के !!

तेरे प्यार मे खुद को भुला दिया,
हो सके तो मेरे प्यार को रखना सम्भाल के !!

तेरे झूठ को भी सच मान के जिये हैं,
हो सके तो मेरे सच को रखना सम्भाल के !!

मेरा रब मुझसे रूठ गया तुझे चाहा इसकदर हमने,
इसीलिये मेरी चाहत को रखना सम्भाल के !!

राहों में तेरी फूल हमने बिछाये थे,
हो सके तो मेरी राहो के काटों को रखना सम्भाल के !!

तेरी दुनिया को खुशियो से हमने बसाया था,
हो सके तो मेरी जिन्दगी को रखना सम्भाल के !!

3 Comments

  1. Gurcharan Mehta 'RAJAT' Gurcharan Mehta 09/09/2013
    • Muskaan 09/09/2013
  2. rakesh kumar राकेश कुमार 02/07/2014

Leave a Reply