बात

बात बिन बात की ,या बात थी बात की |
राज कोई खुला या खुली बात की ||
बात से दिल दुखा या सबक मिल गया |
बात उनकी सही या गलत बात की ||

बात अपनी सही ,या बात उनकी सही |
या बात बेकार की ,हमने उनसे कही ||
बात उनको लगी ,या बात हमको लगी ||
बात थी प्यार की प्यार में थी कही||

बात असली तो दोनों दिलो में रही |
बात फर्जी भी दिलदर्द बनकर बही ||
बात से दिल जला या दुआ मिल गयी |
बात नकली बही असली दिलो में रही ||

बात कांटा बनी या खिली थी कली |
बात में प्यार था या कि नफरत फली ||
बात दिल तक गयी या दिलों में चुभी |
बात धोखे कि थी या कि दरियादिली ||

Leave a Reply