रूप

हे दाता !

मत देना

गुरबत में रूप

गरीब यौवन

बनता दुश्मन

बटोरता लार

पाता दुत्कार,

ना मिलता काम

ना मिलती भीख

हे दाता !

मत देना

गुरबत में रूप ।

 

One Response

  1. Bhavana Tiwari BHAVANA TIWARI 24/08/2013

Leave a Reply