कबीर

मृत्यु शैय्या पर

अपनों ने ही

कुरेद दिया

मज़हब कबीर का,

जो

ताउम्र

मानवता से

मज़हब को ढाँकता रहा ।

One Response

  1. shivam.yadav37 SHIVAM YADAV 09/12/2013

Leave a Reply