हवा

खुली

दरो-दीवार देख कर

आई बौराई हवा

जो भी लिखा था,

रश्क में

उड़ा ले गई ।

Leave a Reply