वोटर

जब चारो तरफ प्रत्यासियों की लगी बाजार।
जनता सोच समझ ले वोट दे होशियार ।|

वोट देना वोटरो अपना अधिकार मानो ।
मुल्क मुकम्मल प्रत्यासियों से अविकार माँगो ।|

दागी  दामन  दाग  लगाये  उन्हे  हटाआ॓ ।
मूल्यवान मत वोटर सारे गौरव गाऒ ।|

अभी उनकी बोलियों में वही तीर कमान |
जीत की कटारी पास होगी हर एक म्यान ||

देश  की  देने  वाले  हो  जिनको  तू  कमान |
कही वे तुम्हारा चुनकर करे ना अपमान ||

आयोग से कहो निकाले अपना फरमान |
कोई नहीं  कोई  नहीं  मंगल  करें   गान ||

Leave a Reply