चाहा था उनको दिल से

चाहा था उनको दिल से तो वो दिलदार बनगये |
दे दिया तख्तो ताज तो वो सरकार बनगये ||
की बेइंतिहा मोहब्बत तो हम गुनहगार बन गये |
बिकाऊ था प्यार उनका तो वो गद्दार बन गये ||

Leave a Reply