ग्रहों की तात्कालिक मित्रता व शत्रुता

एकादश ,द्वादश ,त्रय ,जानहु |द्वय ,दश ,चतुर्थ मित्र ही मानहु ||
पंचम ,अष्टम ,नवम बखाना | प्रथम  षष्ठ  सातवं  रिपु  माना ||

Leave a Reply