ग्रहों का मूल त्रिकोण

सूर्य बीस त्रय शशि कहहुं ,मंगल द्वादश मेष |
मूल त्रिकोण के बाद में  कहलावै  स्वग्रहेश ||

बुध पंद्रह उच्च ही जाना |मूल त्रिकोण बीस तक माना ||
तीस अंश तक स्वग्रह बखानौ |कन्या प्रमुख बुद्ध गृह मानौ ||
धनु दस मूल त्रिकोण वृहष्पति |तदुपरांत कह स्वग्रहाधिपति ||
शुक्र त्रिकोण अंश कह पंद्रह |तीस अंश तक तुला शुक्र गृह ||
कुम्भ त्रिकोण बीस तक माना |आगे मंद केर गृह जाना  ||
राहु त्रिकोण कुम्भ मह होई |केतु सिंह जानै कोइ कोई ||

Leave a Reply