आप ही बता दो

कौन सा रास्ता अपनी ओर मोडू -आप ही बता दो ?
जिस पर मैं ही मैं अकेला दौडू – आप ही बता दो ?

यकीन कर कर देख लिया,
किसका भरोसा तोडू – आप ही बता दो ?

सब आईने ओर मै पत्थर,
किसका घर फोडू – आप ही बता दो ?

कट जाये जिन्दगी आराम से,
किससे नाता जोडू – आप ही बता दो ?

तरकश में तीर बहुत से हैं,
किस पर निशाना छोडू – आप ही बता दो ?

नमक तो डाला है उसके जख्मों पर,
अब नींबू कब निचोड़ू – आप ही बता दो ?

जी हाँ गलती मेरी ही है “चरन”
अब ठेकडा किसके सर फोडू – आप ही बता दो ?

———————————————————————

गुरचरन मेह्ता 

Leave a Reply