राशि निर्णय

अश्वनि भरणी कृती एक पद |मानहि मेष राशि ज्योतिषविद ||
कृतिका त्रय पद रोहिणि जानौ |मृगशिर आधा वृषभ बखानौ ||
मृगशिरार्धम     आर्द्रा आवै  |पुनरे त्रय पद मिथुन कहावै ||
अंतिम पाद पुनर्वसु जाना  |पुष्यश्लेषा कर्कट   माना  ||
मघा और पूर्वा फाल्गुनी    | उत्तर पाद सिंह कह गुनी    ||
उत्तर फाल्गुन केर तीन पद | हस्त चित्रार्धम को कन्या वद  ||
चित्रार्धम स्वाती को जाना  | त्रिपद विशाषा तुला बखाना  ||
विशाषा एक पाद अनुराधा |  ज्येष्ठ पूर्ण वृश्चिक को साधा  ||
मूल  पूर्वा  षाढ   बखाना । षाढ उत्तरा  पद  धनु जाना  ||
त्रय पद आवै  षाढ   उत्तरा  |श्रवण धनिष्ठार्धम है    मकरा ||
अर्ध धनिष्ठा शतभिष गावा | पूर्व  भाद्रत्रय  कुम्भ  बतावा  ||
पूर्व भाद्रपद एक पद ,   उत्तर भाद्र प्रमान |
रेवति के चारो चरण ,मीन कहहि विद्वान् ||

आचार्य शिवप्रकाश अवस्थी
9412224548