शायरी

जिंदा हैं वो लोग जिन्हें जीने का शौक है,
तनहा हैं वो लोग जिन्हें पीने का शौक है,
हमसे अब न जीया न ही पीया जा सके,
शायद इश्क में हमको ज़ख्म सीने का शौक है.
                                   :-सुहानता ‘शिकन’

 

2 Comments

    • SUHANATA SHIKAN SUHANATA SHIKAN 02/08/2013

Leave a Reply