फरिस्तो के तालाबो के

फरिस्तो के तालाबो के अजीज कमल हो |
या,शायरों की शायरी के महफूज गजल हो |
या,तरासे गये संगमरमर के जिन्दा ताजमहल हो |
या, फिर खुदा की खुदाई के ही हमशकल हो |

Leave a Reply