नाप ले जिसे कोई

नाप ले जिसे कोई उसे आसमां नहीं कहते |
जो रोसनी न कर सके उसे समां नहीं कहते |
हो जाये जिसकी गिनती उसे कारवां नहीं कहते|
जो कभी पूरा हो जाये उसे अरमाँ नहीं कहते |

2 Comments

  1. Muskaan 15/07/2013

Leave a Reply