दिल की दुनिया में

दिल की दुनिया में दिल से कुछ दिलदार मिले |
कुछ खुदगर्ज मवाली और मुहब्बत के दुकानदार मिले|
कुछ बेवफा बेरहम और जुर्म के सरदार मिले |
कुछ दिलजले पत्थरदिल और बिना दिल के सरकार मिले|

One Response

  1. manoj charan Manoj Charan 11/07/2013

Leave a Reply