मत करना ऐतबार…

मत करना ऐतबार जो तुमको धोखा दे एक बार,
धोखा देना आदत उसकी मत करना स्वीकार !!

खुद पे कर विश्वास तु बडता जा मेरे यार,
मान मेरा केहना आयेगी तेरी जिन्दगी मे भी बहार !!

कहने से किसी के होती नही कभी हार,
महनत करना काम है तेरा मत करना अहेन्कार !!

क्या हुआ जो खाया धोखा एक बार,
होते रहेन्गे जिन्दगी में ऐसे तजुर्बे कई बार !!

सीखते रहना हर पल खुशियां मिलेंगी अपार,
रुक जो गया अगर तो होगी तेरी हार !!

माना आज हुआ एक तीर तेरे दिल के पार,
भूल के सारे बुरे स्वप्न देख नये ख्व्वाब हर बार !!

मत खोना उन यादो मे जो दर्द का दे अम्बार,
नयी तराने गाये जा रस्ता देख रहा है प्यार,

मत करना ऐतबार …..

9 June 2013

One Response

  1. Gurcharan Mehta 'RAJAT' Gurcharan Mehta 09/07/2013

Leave a Reply