पति बना्म बेटी का बाप

ये पन्क्तियां मेरा सवाल है उन पतियों के नाम जिन्हे अपनी पत्नियो को खुद से नीचे देख्नना पसंद होता है !

हर बाप की राजकुमारी होती है उसकी बेटी ,
फिर क्यों उस प्यारी सी राजकुमारी पे राज करता है उसका पति !!

हर बाप की कमजोरी होती है उसकी बेटी,
फिर क्यों उसे कमजोर करता है उसका पति !!

हर बाप के ख्वाबों की परी होती है उसकी बेटी,
फिर क्यों उसके ख्वाबों से खेलता है हर पल उसका पति !!

जब भी विदा होती है बेटी, तो छुप छुप कर आन्सु बहाता है हर बाप,
फिर क्यों नही सम्भाल कर रखता उस नायब तोह्फे को उसका पति !!

हर तमन्ना पूरी करता है एक बाप अपनी किशोरी की,
फिर क्यों उसकी खुशियो की कोई कद्र नही करता उसका पति !!

क्यों नही समझता, बनेगा एक दिन बाप वो भी, एक नन्ही सी परी का !!
जो हश्र किया उसने एक बाप की बेटी का अपने घर मे,
क्या कुबूल होगा वही हश्र उसे अपनी बेटी का ?????

2२ June 2013

3 Comments

  1. Gurcharan Mehta 'RAJAT' गुरचरन मेह्ता 23/06/2013
  2. Amit Saxena 02/07/2013
    • Muskaan 03/07/2013

Leave a Reply